*आग लगने से झोपड़ीनुमा घर जलकर राख।*खोदावंदपुर गांव में दरवाजा तोड़कर कपड़ा की दुकान में हजारों चोरी*अधिवक्ता के निधन पर शोकसभा का आयोजन।■ मटिहानी पुलिस ने 582 कार्टन विदेशी शराब के साथ एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार।निराश ग्रामीणों श्रमदान से कीया कुआँ का जिर्णोदार।खातोपुर मुहल्ले में घर से बोरे में बंद बरामद हुआ 4 वर्षीय शिफत खातून का शव।प्रशिक्षित अभ्यर्थी करेंगे अनशन आमरण । 10 जून तक का अल्टीमेटम*गिरिराज सिंह के आगमन की तैयारी में जुटे भाजपा कार्यकर्ता**ई-रिक्शा और टाटा 407 के बीच सीधी टक्कर में 2 लोगों की मौत, 5 घायल**वीरपुर-प्रखंड स्तरीय खरीफ महोत्सव आयोजित*
गैस एजेंसी के नाम पर बिकलांग सैनिक से 22 लाख की ठगी – NI9
Connect with us
Smiley face

गैस एजेंसी के नाम पर बिकलांग सैनिक से 22 लाख की ठगी

Samastipur

गैस एजेंसी के नाम पर बिकलांग सैनिक से 22 लाख की ठगी

प्रार्थमिकी का आदेश थाना अध्यक्ष मोहनपुर प्रखंड ओपी छेत्र के मोहनपुर निवासी दया निधि राय के पुत्र संतोष कुमार से गैस एजेंसी के नाम पर 21 लाख92हजार 500रुपिया की ठगी की गई है।इस मामले को
लेकर समस्तीपुर न्यायालय के आदेश पर पटोरी थाना में शानिवार को प्रार्थमिकी दर्ज की गई बताते चलें कि संतोष भारतीय थल सेना में सैनिक थे वे आतंकियों से लड़ाई के दौरान घायल होने के कारण विकलांग हो चुके थे । विकलांग के कारण सेना ने उन्हें आकास्मिक सेवा निविर्ती प्रदान की अपने गांव आकर सैनिक को मिलने वाली प्रार्थमिकता के आधार पर गैस एजेंसी लेने के लिए प्रयास करने लगा गूगल में सर्च किया गया तो उन्हें आई ओ सियल (iocl) ओ आर जी के नाम का एक साइट मिला।जिस पर गैस एजेंसी के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगा गया । जब फौजी ने ऑनलाइन आवेदन जमा कर दिया तो उनके व्हाट्सएप पर कागजात सत्यापन का मैसेज के साथ साथ एचपीसीएल गैस एजेंसी की स्वीकृति का प्रमाण पत्र आया ठीक इसके बाद किसी ने अपने आप को एचपीसीएल का सहायक प्रबंधक बताते हुए फौजी से निबंधन के नाम पर ₹19500 की मांग की और मुंबई स्थित एसबीआई का खाता नंबर दिया। जिसमें इन्होंने अपने खाते से राशि एनईएफटी कर दिया इसके बाद पुनः एचपीसीएल का सर्टिफिकेट आया और ₹120000 की मांग की गई जिसे सैनिक ने दोबारा एनईएफटी कर दिया इस तरह या कर्म लगातार जारी रहा सात अलग-अलग खाते में कुल मिलाकर 21 लाख 93 हजार ₹500 जमा करा लिया गया इस घटना की कोई पुष्टि नहीं हो पा रही है इस घटना में गूगल का क्या हस्तक्षेप है इसका कोई पता नहीं लग रहा है इस तरह की घटना अपने समस्तीपुर जिले में चरम सीमा पर है कई लोगों के मोबाइल पर फोन आता है कि आपको कार फंसा है । कार लेना है तो रजिस्ट्रेशन के लिए ₹20000 हमारे खाते पर भेजें फिर आपको कार आपके एड्रेस पर या आपके घर पर मिलेगा।

Continue Reading
You may also like...

More in Samastipur

NI9 Special

Trending

Smiley face
To Top